शोहरतगढ़ सीटः अपना दल के विनय वर्मा के खेवनहार बने जगदम्बिका पाल

February 22, 2022 2:33 PM0 commentsViews: 1033
Share news

सांसद और उनकी टीम की सक्रियता से मुख्य संघर्ष में दिखने लगा

अपना दल

नजीर मलिक


सिद्धार्थनगर। शोहरतगढ़ विधानसभा सीट से चुनाव में अकेले पड़ते दिख रहे अपना दल के प्रत्याशी विनय वर्मा के चुनाव की पूरी तरह से जिम्मेदारी क्षेत्र के भाजपा सांसद जगदम्बिका पाल पर आन पड़ी है। टिकट को लेकर उठे विवाद के बाद भाजपा गठबंधन प्रत्याशी विनय वर्मा के लिए सांसद पाल एक तरह से उनके खेवनहार की भूमिका में खड़े दिखते हैं।

भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल के प्रत्याशी विनय वर्मा वास्तव में गोरखपुर के निवासी हैं। जब वह अपना दल का टिकट लेकर शोहरतगढ़ चुनाव लड़ने आये तो सबसे पहले उनके सामने कार्यकर्ताओं की बगावत की समस्या थी। अपना दल और भाजपा के एक हिस्से के कार्यकर्ताओं के विरोध और नितांत नयी जगह होने के कारण उनके सामने समस्या थी कि अब चुनाव कैसे लड़ा जाए। ऐसे में भाजपा के वरिष्ठ नेता और गंभीर व्यक्तित्व के मालिक सांसद जगदम्बिका पाल आगे बढ़े और विनय वर्मा के साथ खड़े हुए। उसके बाद तो चुनावी परिदृश्य बिलकुल ही बदलने लगा।

दरअसल सांसद पाल को गठबंधन धर्म निभाता देख कर भाजपा कार्यकर्ताओं को भी अपने कर्तव्यबोध का भान हुआ और सांसद पाल की प्रेरणा से शनैः शनैः कार्यकर्ताओं का हुजूम गठबंधन प्रत्याशी के साथ आने लगा। सांसद पाल द्वारा प्रत्याशी विनय वर्मा के पक्ष में जम कर जनसम्पर्क और सभाएं करता देख भाजपा कार्यकर्ताओं में भी आज जोश जागा और अब स्थिति यह है कि नामांकन के दौरान लड़ाई से बाहर दिख रहा अपना दल अब मुख्य संघर्ष में खड़ा दिख रहा है। इसका श्रेय यकीनन सांसद जगदम्बिका पाल को जाता है। दरअसल दूसरे शब्दों में यह कहा जाए कि सांसद पाल एक तरह से प्रत्याशी विनय वर्मा के खेवनहार की भूमिका में दिखाई पड़ रहे हैं तो अतिश्योक्ति न होगी।

लेकिन अभी भी अपना दल के कार्यकर्ता व भाजपा के कुछ वर्कर विनय वर्मा को टिकट दिए जाने से खिन्न होकर घरों में बैठे हैं। सांसद पाल को इसके लिए अभी प्रयास करना होगा। वैसे यदि सांसद पाल और उनकी टीम इसी प्रकार विनय वर्मा के चुनाव को अपना चुनाव समझ कर सक्रिय रही तो चुनाव परिणाम भाजपा गठबंधन के पक्ष में जा सकता है। भाजपा के मीडिया प्रभारी आशीष शुक्ल कहते हैं कि पाल सहब की मेहनत का नतीजा है कि आज अपना दल इस सीट पर मुख्य संघर्ष में है और वह मतदान तक इस सीट पर अपना दल की जीत को सुनिश्चत करके रहेगे।

Leave a Reply