डुमरियागंजः गिनती कल, इक्जिट पोल के बाद सत्तापक्ष को थोड़ी राहत, विपक्ष की धड़कनें तेज

June 3, 2024 1:09 PM0 commentsViews: 1062
Share news

 नजीर मलिकॽ

चित्र परिचय़़— मतगणना की तैयारियों के लिए बैठक करता प्रशासन

सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज लोकसभा सीट के लिए मंगलवार को होने वाली मतगणना को लेकर सभी दलों के प्रत्याशियों व उनके समर्थकों के दिल की धड़कने बढ़ती जा रही है। लेकिन 1 जून को जारी इक्जिट पोल के नतीजों के बाद सत्तारी दल के खेमे में तानिक राहत महसूस की जा रही है वहीं, विपक्ष दलों के उम्मीदवारों की धड़कनें कुछ अधिक ही बढ़ गई हैं। इस सीट से दो निर्दल समेत कुल 6 प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं।

मंगलवार की मतगणना पर विमर्श करते सपा नेता

प्राप्त विवरण के अनुसार इस सीट पर कुल चार उम्मीदवारों के बीच असली मुकाबला है। सभी को अपनी जीत की उम्मीदें हैं। लेकिन सपा भाजपा और आसपा के बीच मुख्य संघर्ष देखा जा रहा है। क्योंकि बसपा प्रत्याशी तो मतदान के बाद से ही मैदान छोड़ चुके हैं। इन तीनों उम्मीदवारों के खेमे में पिछले एक सप्ताह से काफी गहमा गहमी रही। उनके चुनावी मैनेजर प्रतिदिन अपनी जीत के गुणभाग की माथापच्ची करते रहे, मगर 1 जून को इक्जिट पोल की रिपोर्ट सार्वजनिक होने के साथ भाजपा प्रत्याशी और निवर्तमान सांसद जगदम्बिका पाल के खेमे में थोड राहत महसूस करते देखा गया। क्योंकि इक्जिट पोल की रिपोर्ट में भाजपा की बम्पर जीत का दावा किया गया था। दूसरी तरफ इस रिपोर्ट से सपा प्रत्याशी व पूर्व सांसद कुशल तिवारी और भीम आर्मी समर्थित आसपा प्रत्याशी व पूर्व विधायक चौधरी अमर सिंह के खेमे में अतिरिक्त बेचैनी छायी रही। इनके समर्थकगण विभिन्न प्रकार की आशंकाओं को लेकर चर्चा करते रहे।

हालांकि विपक्ष के दोनों प्रत्याशियों ने इक्जिट पोल को अविश्वसनीय बताते हुए अपने समर्थकों से वोटों की गिनती का इंतजार करने से पहले किसी ऐसे सर्वेक्षण पर ध्यान न देने को कहा है। इसके अलावा उन्होंने मतगणना के दौरान मतगणना स्थल पर अपने गणना एजेंटों पर डटे रहने को कहा है। सपा ने तो इस विषय को लेकर सोमवार को प्रेस कान्फ्रेंस तक कर डाली और इसे मनोवैज्ञानिक वार की संज्ञा दी है। प्रेस कान्फ्रेंस में कहा गया कि हम सरकार की किसी प्रकार की धांधली की मंशा पूरी नहीं होने देगे। हम किसी प्रकार की गड़बड़ी के खिलाफ हर राजनीतिक संघर्ष करने को प्रतितिबद्ध हैं। जबकि आसपा के चौधरी अमर सिंह के खेमे में भी मतगणना के दौरान सभी गणना एजेंटों को चौकन्ना रहने के गुर बताये जा रहे हैं। दूसरी तरफ जिला प्रशासन भी मतगणना कर्मियों व अधिकारियों को विवाद रहित गणना के तरीके बता कर उसे दिशा निर्देश जारी कर रहा है। मतगणना कल सुबह आठ बजे से मंडी समिति परिसर में होगीी।

बहरहाल इस बारे में भाजपा के जिलाध्यक्ष कन्हैया पासवान का कहना है कि उनकी पार्टी की जीत पहले ही सुनिश्चित थी। इक्जिट पोल के नतीजों ने इस विश्वास को और पुख्ता कर दिया है। हमारे प्रत्याशी जगदम्बिका पाली जी लगाातर तीसरी बार भी जीत हासिल करेंगे। दूसरी तरफ सपा जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक लालजी यादव ने कहा कि इक्जिट पोल चुनाव नतीजे नहीं हैं। यह एक मनोवैज्ञानिक युद्ध है, जिसे आसानी से समझा जा सकता है।  वोटों की गिनती होने पर सपा प्रत्याशी भारी मतों से जीत दर्ज करेगा। हम सााबित करेंगे कि इक्जिट पोल सरकारी भोंपू मात्र हैं। बहरहाल सभी प्रत्याशियों के गणना एजेंट वोटों की गिनती के लिए कमर कस कर तैयार हैं। इसके लिए उन्हें सारे नियम कानून बता दिये गये हैं। इसलिए इस बार की मतगणना भी रोचक और रामांचक होने की उम्मीद है। अब  देखना है कि मंगलवार को जीत का सेहरा किसके सर बंधता है।

 

 

 

Leave a Reply