वसी मर्डर मिस्ट्रीः पालीक्लीनिक में मिल सकता है हत्या का सुराग, मामला प्रेम प्रकरण का भी संभव?

July 11, 2023 1:47 PM0 commentsViews: 1229
Share news

 

सीसीटीवी के फुटेज खंगाल रही पुलिस, वसी का हो सकता है किसी से प्रेम संबंध अथवा उसने किसी को आपत्तिजनक हालत में देखा हो

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। इटवा थाना क्षेत्र के स्थानीय कस्बे में स्थित बुशरा क्लिनिक में हुई कंपाउंडर वसीउल्लाह उर्फ वसी की हत्या में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। क्लिनिक से कुछ ही दूरी पर स्थित पेट्रोलपंप के सीसीटीवी कैमरे को पुलिस देर रात खंगालती रही। वह कातिलों तक पहुंच भी चुकी है। हालांकि पुलिस के आला अधिकारी अभी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। लेकिन केस का जल्द खुलासा करने का दावा भी  कर रहे हैं।  वैसे सूत्र बताते हैं कि कत्ल का खुलासा होने पर प्रेम प्रसंग का चौंकाने वाला प्रकरण सामने आ सकता है।

रविवार की रात में कंपाउंडर वसी  की हत्या में दर्ज हुए केस के बाद इटवा पुलिस बहुत तेजी से हरकत में आ गई। वसी को गला रेत कर मारा गया था। लेकिन पुलिस को हत्या  का  कोई कारण नहीं पता चल पा रहा है। पुलिस के मुताबिक जब तक वारदात का कारण पता नहीं चलता, उसका हत्यारे के करीब पहुंचना या हत्यारों के विषय में अनुमान लगा पाना खासा कठिन हो जाता है। बहरहाल मुकामी पलिस इतना स्वीकार कर रही है कि वह हत्यारों केखिलाफ जल्द हीशिकंजा कसने में कामयाब होगी।

सीसीटीवी से सुराग की संभावना

इस ब्लाइंड मर्डर को देखते हुए इटवा पुलिस ने आसपास की दुकानों में सीसी कैमरे के लगे होने की जानकारी ली। क्लिनिक में कौन आता जाता था। वसीउल्लाह खान की दोस्ती किससे थी। देर रात कौन आता जाता था। इसके बारे में गहनता से जांच-पड़ताल की गई। पुलिस की अलग-अलग टीमें क्लिनिक के आसपास रहने वालों से जाकर मिल रहीं हैं। उनसे वसीउल्लाह के कार्य व्यवहार के बारे में जानकारी ली। घटना स्थल के पूरब तरफ पेट्रोल पंप पर सीसीटीवी कैमरा लगा मिला है। जिसे देर रात तक पुलिस ने कई चक्र में खंगाला।

लगे हैं कुछ अहम सुराग

बताया जा रहा है कि कैमरे में क्लिनिक के ठीक सामने तक दिखाई पड़ता है। कुछ धुंधली मगर संदेहजनक तस्वीरें दिखी भी हैं, इसीलिए पलिस द्धारा बार-बार वीडियो रिपीट करके देखा गया। पहले एसओ ने देखा, उसके कुछ देर बार फिर सीओ ने पेट्रोलपंप पर पहुंचकर फुटेज को देखा। बताया जा रहा है कि पुलिस के हाथ अहम सुराग लगा है औरविडियों में दिख रहे संदिग्ध के सहारे पुलिस कातिलों तक पहुंच चुकी है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश भी हो सकता है। लेकिन, इस बात की पुष्टि करने से पुलिस अभी कतरा रही है। वह कुछ और प्रमाणों की तलाश में है। इस संबंध में एसओ इटवा विजय बहादुर सिंह ने बताया कि जांच में कई टीमें लगी हुई हैं। कुछ सुराग मिल रहे हैं।  जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।

उत्तराखंड के रहने वाले है डाक्टर दम्पत्ति

बता दें कि उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जनपद के रुद्रपुर थाना क्षेत्र के कच्ची खम्हरिया गांव निवासी नावेद अहमद का बुशरा नाम से जिले के इटवा थाना क्षेत्र के इटवा-डुमरियागंज मार्ग पर कस्बे में एक क्लिनिक है। नावेद के मुताबिक उनकी लगभग पत्नी  29 वर्षीया बुशरा रब्बानी ‘बुशरा पॉली क्लिनिक’ पर चिकित्सा कार्य करती  हैं। इसी अस्पताल में तीन वर्ष से संतकबीरनगर जिले के बन्नी गांव निवासी वसीउल्लाह खान (25) पुत्र अजीमुल्लाह कंपाउंडर का कार्य करते थे। शनिवार की रात उनकी गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में नावेद की तहरीर पर पुलिस अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करके मामले की छानबीन कर रही है।

क्या प्रेम प्रसंग के चलते हुई वसी की हत्या

घटना के संबंध में कुछ सूत्रों और शहरवालों का अनुमान है कि इस कत्ल के सूत्र अस्पताल के अंदर ही मिलने की आशंका है। इसके पीछे प्रेम प्रकरण का मामला होना संभव है। इसके पीछे लोगों के ठोस तर्क हैं। बताया जाता है कि वसी केवल कम्पाउंडर ही नहीं था। वह नीट की तैयारी कर रहा एक स्मार्ट युवक भी था। सूत्रों का कहना है कि संभव है कि उसने अस्पताल में किसी प्रभावशाली शख्सियत को आपत्तिजनक अवस्था में देखा हो और उन लोगों ने यह कृत्य कर डाला हो अथवा स्वयं वसी का ही किसी प्रभावशाली महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा हो और महिला के पति को उसकी जानकारी मिल गई हो और उसने हत्या जैसा जघनय अपराध कर डाला हो। बहरहाल पुलिस अपनी जांच में इस विंदु को गंभीर मान रही है।

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply