अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस पर विशेष: डुमरियागंज मूल के इंजीनियर अजय अग्रहरि न्यूजीलैंड में बच्चों को करा रहें योगाभ्यास

June 21, 2022 1:47 pm0 commentsViews: 184
Share news

करें योग, रहें निरोग

बच्चों का शारीरिक, मानसिक, आध्यात्मिक एवं बौद्धिक विकास के लिए योगाभ्यास आवश्यक- ई. अजय अग्रहरि।

 

अजीत सिंह

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। हिन्दू काउंसिल ऑफ न्यूजीलैंड एक सामाजिक संगठन है जिसके बहुत सारे उद्देश्य है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य ”आरोग्य” है जिसके अंतर्गत हेल्थ फॉर ह्यूमैनिटी ”योगाथन” कार्यक्रम हर वर्ष न्यूजीलैंड के सभी शहरों व कस्बों में योगा सप्ताह के रूप में आयोजित किया जाता है। 2019 में इसके नेशनल कोऑर्डिनेटर डुमरियागंज मूल के अजय अग्रहरि बने जो पेशे से इंजीनियर हैं पर योग में उनकी काफी रुचि है, अपनी इसी रुचि के कारण अपने कार्य से समय निकालकर वह इस कार्यक्रम को काफी लोकप्रियता दिलाकर एक नई ऊंचाई पर ले गए।

 

2019 से यह कार्यक्रम 2 सप्ताह का आयोजित किया जाने लगा जिसमें 108000 सूर्य नमस्कार का लक्ष्य सभी के साथ रखा जाता था जिसके सापेक्ष वर्ष 2019 और 2020 में न्यूजीलैंड के लोगों द्वारा दोनों वर्षो में प्रत्येक वर्ष 140000 से ज्यादा सूर्य नमस्कार किया गया तथा 2021 में 12 जून से 26 जून तक चला और 250000 सूर्या नमस्कार किया गया। योगाथन कि इस सफलता से प्रभावित होकर इस बार योगाथन टीम के लोगों ने फिर 250000 सूर्य नमस्कार का लक्ष्य रखा है, जो 18 जून से 2 जुलाई तक चलेगा, और वहां के लोग इतना उत्साहित हैं कि इस बार भी लक्ष्य से ज्यादा सूर्य नमस्कार करेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस पर योगा सप्ताह का आयोजन किया जाता है जिसमें सभी को निशुल्क योगा सिखाई जाती है और योग के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता हैं। जिसमें वहां के लोगों को योग, भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, मंत्रों से पहचान कराई जाती है। योगाथन टीम ने इस बार योगाथन कार्यक्रम को स्कूलों, कॉलेजों व यूनिवर्सिटी में भी ले जाने का प्रयास किया, जिसके फलस्वरूप मैसी यूनिवर्सिटी में योगाथन के अंतर्गत योगा क्लासेस कराये गये।

 

एपसम नॉर्मल प्राइमरी स्कूल के प्रधानाचार्य इस योगाथन कार्यक्रम व योग से इतना प्रभावित हुए की उन्होंने विद्यालय के अगले सत्र में योग को अपने पाठ्यक्रम में शामिल करने की घोषणा की है और इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अजय अग्रहरि सहित उनकी पूरी टीम को बधाई और शुभकामनाएं दी। योगाथन कार्यक्रम को काफी लोकप्रियता प्राप्त हुई है और यह एक बहुत बड़ा कार्यक्रम बन कर उभरा है जिससे योग से न्यूजीलैंड के निवासी इतना प्रभावित हुए हैं कि वहां पर ढेर सारा योगा स्कूल खुल गया हैं और वहां के लोग अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस काफी उत्साहित होकर मनाते हैं।

अजय अग्रहरि ने बताया की इस बार योगाथन 2022 कार्यक्रम में मुख्य रूप से बच्चों को योग की जानकारी देकर योगाभ्यास कराया जा रहा हैं जिसमें याेग के अलग अलग आसन के साथ, सूर्य नमस्कार, भ्रामरी, कपालभाति आदि का विशेष रूप से प्रशिक्षण दिया जा रहा हैं। जिससे बच्चों का शारीरिक, मानसिक, आध्यात्मिक एवं बौद्धिक विकास हो सकेगा। अजय के अनुसार योग एक जीवन पद्धति है जिससे व्यक्ति, समाज तथा परिवार संस्कारित बनते हैं।

 

अजय अग्रहरि डुमरियागंज मूल के एक युवा प्रवासी हैं, जो न्यूजीलैंड में एक रिसर्च संस्थान में इंजीनियर हैं। ई० अजय अग्रहरि का योग का काफ़ी जुड़ाव है, ई० अजय अग्रहरि योगा अलायन्स के साथ एक पंजीकृत योग शिक्षक (आर.वाई.टी) है, जो न्यूजीलैंड में निशुल्क योगा सिखाते हुए योगाभ्यास कराते हैं। अजय के अनुसार योग एक विज्ञान है जो आपकी मन व शरीर को उसकी प्राकृतिक स्वास्थ्य अवस्था में लाता है तथा आपकी आत्मा को परमात्मा से जोड़ता है। वर्ष 2019 के वाराणसी में आयोजित युवा प्रवासी दिवस पर भारत सरकार ने उन्हें न्यूजीलैंड से यूथ डेलेगेट के रूप में बी॰एच॰यू॰ और पूरे देश भर से चयनित एन. एस. एस. के विद्यार्थियों से अपने विचार साझा करने के लिए आमंत्रित किया था।

(173)

Leave a Reply


error: Content is protected !!