राष्ट्रीय युवा संसद में पिछड़ो की भागी दारी नहीं- यादव सेना

September 19, 2019 11:50 am0 commentsViews: 408
Share news

 

सिद्धार्थनगर। देश के राजधानी दिल्ली में होने वाले 17 से 30 सितम्बर को राष्टीय युवा संसद कार्यक्रम पर यादव सेना संगठन ने सवाल खड़ा कर दिया । संगठन का कहना है कि दस महत्वपूर्ण कार्यक्रम से पिछड़ों को अलग थलग कर सरकार उनके पति अन्याय कर रही है

यादव सेना  संगठन के कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी पर भेद भाव करने का आरोप लगाया और कहा है कि सिद्धार्थनगर जनपद से जिन चार युवा चेहरे नितेश पांडेय, विकाश पांडेय, अर्चित समान मिश्रा तथा अंशुमान त्रिपाठी , को जातीय पक्षपात के तहत चयनित किया गया है। इस कार्यक्रम में    सिंह, चौधरी, पासवान, चौरसिया  यादव,निषाद,गौड़, हरिजन कनौजिया, विश्वकर्मा , चौहान, अग्रहरी, जयसवाल, गुप्ता, मुस्लिम आदि जातियों के  तमाम युवा इस भेद भाव वाले हरकत से बेहद, नाराज हैं।

यादव सेना के जिला अध्यक्ष विजय यादव ने एक बयान में कहा है कि  जनपद में पिछड़ी जाति के बहुत से वैचारिक रूप से काफी आगे हैं। मगर सत्ता के दबाव में किये गये चयन  ने विभाग की नीयत साफ़ कर दिया  है।  देश की राजधानी दिल्ली में 17 से 20 तक युवा संसद कार्यक्रम का, देश के कोने कोने से इस कार्यक्रम मै युवा प्रतिभाग करेगे और जनपद के समस्याओं को पक्ष  रखेगे।

उन्होंने कहा कि जनपद के युवाओं के साथ इस कदर जातीय पक्षपात को देख कर बेहद गहरा दुख हुआ है कि अभी तक केवल आरक्षण पर हमला किया जा रहा था,अब हर स्तर से वार पीछे किया जा रहा है। खास कर पिछड़ी जाति,अनसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति,और कुछ समान्य जाति के लोगों को उइससे अलग रखा जा रहा है।

 

(162)

Leave a Reply


error: Content is protected !!