करंट से 16 साल के बालक की मौत, फांसी के फंदे से लटकी युवक की लाश मिली, कत्ल का शक

September 9, 2023 12:45 PM0 commentsViews: 343
Share news

 नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।  गोल्हौरा व उस्का थाना क्षेत्र में दो अलग अलग घटनाओं में 22 वर्षीय एक युवक तथा 16 वर्षीय बालक अर्जुन की दर्दनाक मौत हो गयी।  दुर्गेश का शव उसकी दुकान में लटकता पाया गया है तो अर्जुन की मौत बिजली के करंट से हुई है। इन दोनों दर्दनाक मौतों में दर्गेश की मौत संदिग्ध मानी जा रही है और उसकी हत्या की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा रहा है।

प्राप्त विवरण के अनुसार गोल्हौरा थानाक्षेत्र के ग्राम डड़वाढड्डी निवासी दुर्गेश उर्फ गोलू  पुत्र सुखराम गोल्हौरा चौराहे पर कई वर्षों से चाय की दुकान चलाता था। बताते हैं कि बृहस्पतिवार रात में वह दुकान बंद कर रोज की तरह सोने चला गया। शुक्रवार सुबह लगभग 5 बजे उसका भाई दिनेश जब दुकान पर पहुंचा तो देखा कि अंदर टिनशेड में लगे लोहे की पाइप में गमछे के फंदे में दुर्गेश की लाश लटकी हुई है। उसने परिजन की मदद से लाश नीचे उतरवाया और अपनी मां धनपति के साथ थाने पर पहुंचकर पुलिस को सूचना दी। लेकिन लोगों को समझ में नहीं आ रहा थाकि वह खाना खाने के बाद कब पुनः दुकान पर गया और क्यों सी  से लटक गया। कुछ लोग इस मामले को प्रेम प्रसंग से भी जोड़ कर देख रहे है।जिसमें उसकी हत्या भी की जा सकती है।

प्रभारी निरीक्षक बलजीत कुमार राव ने फोरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया और उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। मौके पर सीओ इटवा जयराम ने पहुंचकर जांच की। घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। इस संबंध में थाना प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि मृतक की मां की तहरीर पर मामला दर्ज कर जांच व कार्रवाई की जा रही है। मृतक अविवाहित था। दुर्गेश तीन भाइयो में सबसे छोटा था। पुण्यवासी व दिनेश दो इसके बड़े भाई हैं।

 करंट से 16 साल के बालक की मौत

एक अन्य समाचार के अनुसार थाना क्षेत्र के दुमदुमवा गांव में शुक्रवार सुबह लोहे की सीढ़ी पर चढ़ रहे किशोर की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई, जबकि उसे बचाने गई मां भी करंट के झटके से दूर जा गिरी। किशोर की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। इसकी जानकारी होने पर काफी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए।
दुमदुमवा निवासी अर्जुन चौहान (16) पुत्र रामप्रसाद चौहान ने घर की छत पर जाने के लिए लोहे की सीढ़ी को पकड़ा, इससे वह करंट की चपेट में आ गया। अर्जुन की आवाज सुनकर मां मालती देवी बचाने पहुंची तो वह भी करंट की चपेट में आ गईं और झटके से दूर जा गिरीं। घटना में अर्जुन गंभीर रूप से झुलसकर अचेत हो गया। आनन-फानन ग्राम प्रधान रामसुमेर और परिजनों ने अर्जुन को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

 

 

Leave a Reply