रहस्यमय हालात में 22 साल के विवाहित युवक की मौत, घटना के समय केवल पत़ि-पत्नी ही थे घर में

November 3, 2020 12:14 pm0 commentsViews: 349
Share news

परमात्मा उपाध्याय

बढ़नी, सिद्धार्थनगर।  ढेबरुआ थाना क्षेत्र के तालकुंडा टोला केवटलिया  में 22 साल के युवक द्धारा फांसी का फंदा लगा कर आत्महत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। परिजनों के अनुसार पति के जान देने का कारण पत्नी से विवाद बताया जाता है। लेकिन यह बात ग्रामीणों के गले से नीचे नहीं उतर रही है। मां बाप की इकलौती संतान होने के कारण परिवार वालों पर दुख का पहाड़ आ गिरा है।

मिली जानकारी के अनुसार फंदा दुपट्टे का बनाया गया, जिसको कमरे की छत में लगी कुंडी में लगाया गया था। मृतक  पति का नाम विजय प्रकाश (22) पुत्र रामहेत उर्फ भुर्रे है। लोगों का कहना है कि वह दिल्ली में रहता था लॉकडाउन में वह दिल्ली से घर आया था। तभी से यहीं पर था। घटना से पहले बाजार जाने को लेकर युवक व उसकी पत्नी में नोकझोंक हुई थी। पता चला है  कि उसके पिता राम जी मुंबई में रोजी रोटी के लिए गए हैं। घर पर वह युवक अपनी पत्नी के साथ अकेले रहता था।

बताया जाता है कि कल अर्थात घटना के दिनविजय की पत्नी शिवरात्रि करीब चार बजे दिन में खेत की तरफ गई थी। खेत से आने के बाद वह बरामदे में रखी चारपाई पर सो गई। उसने जगने पर पति से बाजार जाने की बात कही। इसी पर दोनों में नोकझोंक हुई। इसके बादपत्नी के अनुसार पति शाम पांच बजे के करीब अपने कमरे में गया और अंदर से कुंडी लगा दिया। काफी देर बीत जाने के बाद जब अंदर से कोई आहट न मिली तो पत्नी ने पति को बुलाना शुरू किया। अंदर से कोई आवाज नहीं आई। तब उसने दरवाजा खटखटाना शुरू किया।

दरवाजा न खुलने पर उसने पड़ोसियों को बुलाया। पड़ोसियों ने आकर दरवाजा तोड़ा तो देखा छत की कुंडी से युवक का शव झूल रहा है। पड़ोसियों ने ही शव को फंदे से उतारा। गांव वाले व स्वजन पहले मामले को दबाना चाहे। बाद में किसी ने घटना की सूचना पुलिस को दे दी। करीब रात नौ बजे पुलिस गांव में पहुंच कर शव को कब्जे में लिया। इस संबंध में एसओ तहसीलदार सिंह का कहना है कि शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है।

(336)

Leave a Reply


error: Content is protected !!