exclusive-नजमा ने झाड़फूंक करने वाले मौलवी प्रेमी के साथ मिल कर किया था शौहर का कत्ल

February 1, 2023 1:38 PM0 commentsViews: 622
Share news

पति को मुम्बई से धोखे से बुलाया, मगर घर पहुंचने से पहले ही रास्ते में उतार कर मौलवी प्रेमी के साथ मिल कर कर दिया शौहर का कत्ल

नजीर मलिक

 

पति जफर अली की कातिल नजमा खातून

सिद्धार्थनगर। मुम्बई से घर आ रहा जाफर रास्ते से गायब नहीं हुआ था। बल्कि उसका कत्ल किया गया था। कत्ल कराने वाली उसकी पत्नी ही निकली जिसने अपने प्रेमी के जरिए बारदात को अंजाम दिया था।फिलहाल मृतक की पत्नी नजमा खातून को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है तथा उसके प्रेमी अशफाक की तलाश की जा रही है। अशफाक झाड़फूंक करने वाला मौलवी है तथा वह ग्राम गदाखौवां पड़ोस के जिला बलरामपुर का निवासी है। इस लोमहर्षक घटना से अगल बगल के दोनों कस्बों में तहलका मचा हुआ है।

                   नजमा का पति और मृतक जफर अली

क्या है मामले की पूरी कहानी?

जिले की नगर पंचायत बढ़नी के वार्ड नम्बर 7, कल्लन डिहवा निवासी ३५ वर्षीय जाफर अली पुत्र शाहिद अली मुम्बई में काम करता था। वह बढ़नी आने के लिए गत 24 जनवरी को पनवेल-गोरखपुर एक्सप्रेस से रवाना हुआ था। रास्ते भर उसकी पत्नी से उसकी बात भी होती रही। लेकिन वह 25 जनवरी को घर नहीं पहुंचा तो 26 जनवरी को परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। परिजनों ने बलरामपुर, गोंडा, आनन्दनगर के जीआरपी थाने पर भी छानबीन की लेकिन जाफर का पता न चला। अचानक २९ जनवरी को उसकी लाश प़ड़ोस के जिले बलरामपुर के थाना तुलसीपुर के ग्राम सोनपुर के पास नहर से बरामद हुई। प्रथम दृष्टया उसका गलाघोंट कर मारा था। पुलिस ने इस आशय का केस अज्ञात के खिलाफ  दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई। गता दें कि घटना भले बलरामपुर जनपद में है मगर भौगलिक रूप से वह बढ़नी कस्बे के करीब ही है।

जफर का कथित कातिल और नजमा का प्रेमी मौलवी अशफाक

नजमा ही निकली पति की कातिल

जाफर की लाश मिलने की खबर पर बढ़नी टाउन में हंगामा मच गया। पहले तो लोगों ने माना कि उसकी हत्या लूट के मद्देनजर की गई थी। लेकिन तुलसीपुर पुलिस ने उसके परिजनों और रिश्तेदारों का मोबाइल सर्विलांस पर रखा छोड़ा था। उसके माध्यम से 30 जनवरी को ज्ञात हुआ कि मुम्बई से लौटते समय उसके और उसकी पत्नी के नजमा के बीच निरंतर बात होती रही। लेकिन बढ़नी से पहले स्टेशन तुलसीपुर तक दोनों में बात चली। इसी आधार पर पुलिस ने पूछताछ के उद्देश्य से नजमा अपने कब्जे में लेकर पूछताछ शुरू किया। पुलिस के पूछताछ के दौरान नजमा बहुत घबरा गई इससे पुलिस का शक गहरा हुआ और उसने सख्ती की तो नजमा ने कबूल कर लिया कि अपने पति जाफर अली की लोमहर्षक हत्या उसने अपने प्रेमी अशफाक के माध्यम से कराया है।

कैसे किया गया जफर का कत्ल

33 साल की नजमा ने बताया कि उसने अपने पति का कत्ल पूरी साजिश के तहत कराया है। उसके बयान के मुताबिक तुलसीपुर (बलरामपुर) थाने के ग्राम गदाखौवां टोला नैकनियां निवासी झाड़फूंक का काम करने वाले अशफाक मौलवी से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। वह अपने पति जाफर से छटकारा पाकर अशफाक मौलवी के साथ रहना चाहती थी। इसके लिए दसने अशफाक से मिल कर जाफर को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया और जरूरी काम के बहाने जाफर को मुम्बई से घर बुलाया। जाफर 25 जनवरी की शाम को जब ट्रेन तुलसीपुर पहुंची तो वह पहले से ही अशफाक के साथ वहां मौजूद थी।उसने कोच में जाकर उसे बहाने से उतार लिया तथा अशफाक के साथ ले जाकर नहर के किनारे उसका गला दबाया व उसे नहर में फेंक कर घर वापस आ गई। इस बयान पर पुलिस ने उसे कत्ल के जुर्म में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। नजमा का प्रेमी मौलवी अशफाक घटना के बाद से ही फरार है। पलिस उसकी शिद्दत से खोज कर रही है।

 

 

Leave a Reply