इटवा क्षेत्र में, शांति सिंह, इजहार को रहत, ध्यानमती, कमाल संकट में, बेचई यादव की भाजपा रोशनी देवी की सपा से बराबरी की टक्कर

April 25, 2021 2:48 pm0 commentsViews: 939
Share news

 

जिला पंचायत वार्ड

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का काउंट डाउन शुरू हो चुका है। मतदान का समय शुरू होने में अब केवल कुछ घंटे शेष रह गये  हैं। ऐसे में हर पत्याशी दिन रात मेंहनत कर अपने चुनाव को जीतने में लगा हुआ है। सक्षम लोगों ने सारे साधन संसाधन झोंक दिये हैं। फिलहाल वोटिंग से बीस घंटे पहले के फीडबैक के अनुसार जिला पंचायत के 12 नाम्बर वार्ड से इजहार अहमद, 25 नम्बर से शांति सिंह काफी राहत में देखे जा रहे हैं, जबकि वार्ड नम्बर 22 से ध्यानमती देवी और 24 से कमाल अहमद काफी संकट में घिरे हैं। वार्ड नं. 44 में रोशनी देवी पत्नी सिद्धार्थ गौतम त्रिकोड़िय लड़ाई में भारी दिख रही है। अन्य कई वार्डो में कड़ी टक्कर देखी जा रही है।

वार्ड नम्बर 12 में इजहार को राहत

प्राप्त विवरण के अनुसार इटवा क्षेत्र के तीन महत्वपूर्ण वार्डो में से एक वार्ड संख्या 12 से कुल सात उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। में समाज सेवी इसरार अहमद के पुत्र इजहार अहमद पहली बार मैदान में हैं। उन्हें कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद मुहम्मद मqकीम का वरदहस्त प्राप्त है। शुरूआत में इनकी स्थिति कड़े मुकाबले में थी, मगर अन्य मुस्लिम उम्मीदवारों मसलन औबैदुर्रहमान व करम हुसैन की स्थ्‍िति कमजोर देख कर मुस्लिम मत उनके आसपास सिमटने लगा है। इनका मुकाबला भाजपा के रामानंद मिश्र तथा निर्दल एस. बख्शी से है। अन्य कैंडीडेट अप्रासांगिक है। त्रिकोण लड़ाई होने से जातीय समीकरएा के लिहाज से अजहार की पोजीशन सकारात्मक है आर वह राहत की सांस ले सकते हैं।

शांति सिंह जीत के प्रति आश्वस्त

इसी इलाके के वार्ड नम्बर 25 से भाजपा के वरिष्ठ नेता हरिशंकर सिंह की पत्नी श्रीमती शांति सिंह मैदान में हैं। हरिशंकर की साफ सुथरी राजनीतिक छवि का लाभ उन्हें मिल रहा है। यहां के 6 उम्मीदवारों में वे निश्चित बढ़त बनाए हुए हैं। इनके अलावा सुरेन्द्र शुक्ला, सत्यनायण यादव आदि में में अब दूसरे नम्बर के लिए लड़ाई चल रही है। इसलिए शांति सिंह के समर्थक भी काफी निश्चिंत माने जा रहे हैं। मगर चुनावी ऊंट कब औस किस ओर करवट बदल ले कहा नहीं जा सकता।

कमाल की घेराबंदी, बेचई कड़ी टक्कर में

इटवा की एक अन्य महत्वपूर्ण सीट वार्ड संख्या 24 में बड़ा रोचक संघर्ष हो रहा है। यहां के सात उम्मीदवारों में बसपा समर्थित बदशह की बेगमक के साथ सपा नेता बेचई यादव, भाजपा से चंदप्रकाश चौधरी, इंका से कमाल अहमद वह तीन अन्य लड़ रहे थे। समझा जा रहा था कि कमाल, बादशाह और सपा के बेचई यादव में मुस्लिम मतों के बिखराव का लाभ भाजपा के चंद्र प्रकाश चौधरी को मिलेगा। लेकिन अंत में स्थिति पलटती दिखाई दे रही है। मुस्लिम बाहुल्य गांवों में मुस्लिम वोटों के विभाजन से कमाल और बादशाह की बेगम की पराजय और भाजपा की जीत की आशंका के मद्देनजर मुस्लिम मत सपा के बेचई यादव की तरफ एक जुट हो रहा है। चुराने नेता होने के कारण उनके पास हर जाति धर्म के वोट हैं। इसलिए बेचई सादव की स्थिति मजबूत होती जा रही है।

ध्यानमती दिख रहीं कमजोर

एक अन्य सीट 22 नम्बर वार्ड में स्थिति काफी रोमांचक हो गई है। यहां से पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के दो करीबी करीबी सपा नेता तौलेश्वर निषाद की मां व पूर्व जिला पंचायत सदस्य ध्यानमती देवी व पूर्व डीसीबी चेयरमैन स्व. सुधीर शर्मा की पत्नी तथा वर्तमान चेयरमैन प्रतीक शर्मा की मां श्रीमती मिथिलेश शर्मा मैदान में हैं। मुस्लिम बाहुल्य इस सीट से बसपा समर्थित और समाजसेवी नजरे आलम की पत्नी श्रीमती सयाकुन्निशां व भाजपा प्रत्याशी पूजा त्रिपाठी सहित सात लोग मैदान में हैं।  चुनाव के अंतिम दौर में अब संघर्ष मिथिलेश शर्मा, पूजा त्रिपाठी व कयामुन्निशं की पत्नी के बीच सिमटता नजर आ रहा है। क्षेत्र में शर्मा परिवार की प्रतिष्ठा व राजनीतिक प्रभाव उन्हें बढ़त दे रहा है। बाकी रिजल्ट किसके पक्ष में जायेगा यह तो वक्त ही बताएगा।

वार्ड नं. 44 में लड़ाई त्रिकोड़िय, रोशनी देवी हैं सीधी फाइट में

अनुसूचित महिला के लिए आरक्षित वार्ड नंबर 44 में रोशनी देवी पत्नी सिद्धार्थ गौतम यूं तो भाजपा की बागी उम्मीदवार हैं। यहां त्रिकोड़िय लड़ाई है। क्षेत्र के जानकारों की माने तो सपा के जिला सचिव तेज प्रताप सिंह द्वारा पूनम को लड़ाया गया है। भाजपा ने अपना समर्थन सावित्री देवी को दिया है। रोशनी देवी के पति सिद्धार्थ गौतम भाजपा में अनुसूचित वर्ग के नेता हैं और काफी मिलनसार भी। सपा के तेज सिंह भी काफी चर्चित हैं और अपनी सारी ऊर्जा लगाए हुए हैं इस कारण वह भारी भी पड़ सकते हैं। बहरहाल यहां लड़ाई रोचक है और रोशनी देवी बाजी मार सकती है।

(897)

Leave a Reply


error: Content is protected !!