24 गांवों में आग, 2 हजार बीघा फसल जली, 2 करोड़ का नुकसान, सीएम साहब का कोई भी कारकुन नहीं पहुंचा मौके पर

April 6, 2016 9:01 PM1 commentViews: 6045
Share news

नजीर मलिक

aaglagi

सिद्धार्थनगर। आज यानी बुधवार की सुबह से अपरान्ह चार बजे के बीच जिले में हुई आगलगी की 24 घटनाओं में दो हजार बी गेंहूं की फसल जल कर राख हो गई। इसमें किसानों का तकरीबन दो करोड़ का नुकसान हुआ। घटना में दो  सौ से ज्यादा किसान दाने दान को मुहताज हो गये हैं। प्रशासन भी उनकी मदद के लिए कुछ नहीं कर पा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक आज सुबह 9 बजे हुई अगलगी में बांसी तहसील के तिलौली, धंधापार व महुआ में लगी आग में तकरीबन 4 सौ बीघा गेंहूं की फसल जल कर खाक हो गई। इसके अलावा सिंहोरवा, महादवा बुर्जु, गनवरिया, नेउरी, रमवापुर, नगरा, मिर्जापुर आदि गांवों में भी आग लगी और फसलें जल कर खाक हो गई।

इसके अलावा सदर तहसील के ग्राम मधुकरपुर, बंगरा, इटवा के बरगदवा, बभनी माफी, खुनियाव, आदि कुल 22 गांवों में आग लगी। इनमें सदर तहसील के आठ, बांसंी तहसील के 9, इटवा के पांच व डुमरियागंज, शोहरतगढ़ के एक-एक गांव सहित कुल 24 गांवों में आग लगी, जिसमें दो हजार बीधा खेत जल कर खाक हो गया।

कृषि के जानकारों का कहना है कि एक बीधा खेत में तकरीबन 10 हजार का गेहूं तैयार होता है। इस लिहाज से आगजनी की 24 घटनाओं में तकरीबन 2 करोड़ की फसल जल कर राख हुई है। हालात इससे भी गंभीर हो सकते हैं।

लोटन के ग्राम कपिया के किसान बीखू कहते हैं कि कुदरत के इस कहर से उन जैसे सैकड़ों किसानों के अरमान जल गये हैं। सिकंदर का कहना है कि अगली खेती कैसे होगी, बिटिया की शादी में क्या होगा, यह सोच कर ही दिल कांप जाता है।

मजे कि बात है कि 24 गांवों में अगलगी के बाद अब तक कोई सरकारी कर्मी न तो गांवों में पहुंचा है, न ही किसी अफसर ने किसी किसान की हालत का जायजा लिया है। सीएम अखिलेश की सरकार क्या कर रही है, यह भी एक बड़ा सवाल है।

1 Comment

Leave a Reply